Bollywood New Updates

Get All Bollywood Updates Here

Ganesh Chaturthi Vrat Puja Katha Kahani Story In Marathi Hindi Languages Pdf file

Ganesh Chaturthi Vrat Puja Katha Kahani Story In Marathi Hindi Languages Pdf file: Advance Ganesh Chaturthi/Vinayak Chaturthi wishes to all of you. Are you searching for the Ganesh Chaturthi Vrat Puja Katha Kahani In Marathi Hindi Languages Pdf file? so friends ,you have landed at the right webpage. We bring here Ganesh Chaturthi Vrat Puja Katha Kahani In Marathi Hindi Languages Pdf file. Ganesh Chaturthi is a very famous festival of the Maharashtra state. But also celebrate in Kerala, Karnataka, Tamilnadu, Uttar Pradesh, Bihar, Pune, Gujarat, and Rajasthan states. Hindus people worship Lord Ganesha’s statue for 10 days  and then they immerse that statue in the river or Sea on the Ganesh Chaturthi day. Some people take fast on this day to follow the Ganesh Chaturthi tradition.

Ganesh Chaturthi Vrat Puja Katha Kahani Story In Marathi Hindi Languages Pdf file

Ganesh Chaturthi Vrat Puja Katha Kahani Story In Marathi Hindi

Ganesh Chaturthi Katha Kahani Story in Hindi Language

माघ मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्टी गणेश चतुर्थी भी कहते हैं। इस दिन तिल चतुर्थी का व्रत किया जाता है। यह व्रत करने से घर-परिवार में आ रही विपदा दूर होती है, कई दिनों से रुके मांगलिक कार्य संपन्न होते है तथा भगवान श्रीगणेश असीम सुखों की प्राप्ति कराते हैं। इस दिन गणेश कथा सुनने अथवा पढ़ने का विशेष महत्व माना गया है। व्रत करने वालों को इस दिन यह कथा अवश्य पढ़नी चाहिए। तभी व्रत का संपूर्ण फल मिलता है।

पौराणिक गणेश कथा के अनुसार एक बार देवता कई विपदाओं में घिरे थे। तब वह मदद मांगने भगवान शिव के पास आए। उस समय शिव के साथ कार्तिकेय तथा गणेशजी भी बैठे थे।

Must Visit: Advance Ganesh Chaturthi Marathi Hindi Shayari Bhakti SMS Status Wishes Msg

देवताओं की बात सुनकर शिवजी ने कार्तिकेय व गणेशजी से पूछा कि तुममें से कौन देवताओं के कष्टों का निवारण कर सकता है। तब कार्तिकेय व गणेशजी दोनों ने ही स्वयं को इस कार्य के लिए सक्षम बताया। इस पर भगवान शिव ने दोनों की परीक्षा लेते हुए कहा कि तुम दोनों में से जो सबसे पहले पृथ्वी की परिक्रमा करके आएगा वही देवताओं की मदद करने जाएगा।

Must Visit: Download Ganesh Chaturthi 2016 DJ Remix Bhakti Video Mp3 Songs List

भगवान शिव के मुख से यह वचन सुनते ही कार्तिकेय अपने वाहन मोर पर बैठकर पृथ्वी की परिक्रमा के लिए निकल गए। परंतु गणेशजी सोच में पड़ गए कि वह चूहे के ऊपर चढ़कर सारी पृथ्वी की परिक्रमा करेंगे तो इस कार्य में उन्हें बहुत समय लग जाएगा।

तभी उन्हें एक उपाय सूझा। गणेश अपने स्थान से उठें और अपने माता-पिता की सात बार परिक्रमा करके वापस बैठ गए। परिक्रमा करके लौटने पर कार्तिकेय स्वयं को विजेता बताने लगे। तब शिवजी ने श्रीगणेश से पृथ्वी की परिक्रमा ना करने का कारण पूछा।

तब गणेश ने कहा – ‘माता-पिता के चरणों में ही समस्त लोक हैं।’

यह सुनकर भगवान शिव ने गणेशजी को देवताओं के संकट दूर करने की आज्ञा दी। इस प्रकार भगवान शिव ने गणेशजी को आशीर्वाद दिया कि चतुर्थी के दिन जो तुम्हारा पूजन करेगा और रात्रि में चंद्रमा को अर्घ्य देगा उसके तीनों ताप यानी दैहिक ताप, दैविक ताप तथा भौतिक ताप दूर होंगे।

इस व्रत को करने से व्रतधारी के सभी तरह के दुख दूर होंगे और उसे जीवन के भौतिक सुखों की प्राप्ति होगी। पुत्र-पौत्रादि, धन-ऐश्वर्य की कमी नहीं रहेगी। चारों तरफ से मनुष्य की सुख-समृद्धि बढ़ेगी।

Via

Ganesh Chaturthi 2015 Katha Story

 

Ganesh Chaturthi Vrat Puja Katha Kahani Story In Marathi Hindi Languages Pdf file

We are glad that you spend your precious time to read our article so we would like to personally thank you for that. We hope you liked our Happy Ganesh Chaturthi special article. Please make sure that you have subscribed our website for upcoming updates. If you haven’t subscribed so do it now. You can share this article with your friends and family members. You can also share this Happy Ganesh Chaturthi special article on different social networking websites and apps like Facebook, Google+, Twitter, Whatsapp, Hike, Wechat, Line and BBM etc. Stay tuned with us for more upcoming updates of Ganesh Chaturthi 2016.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bollywood New Updates © 2016 Frontier Theme